Like our facebook page:

Chalaak Santa – Hindi Joke

दीवार पर लिखा था “यहां कुत्ते
सुसु करते हैं!”

संता ने वहां सुसु किया और फिर हंस कर बोला:
‘इसे कहते हैं दिमाग.. सुसु मैंने किया और नाम कुत्ते का आएगा.’

Biwi ko control karne ka tareeka – Hindi Joke

कल अख़बार में एक आर्टिकल पढ़ा

“बीवी को कैसे नियंत्रित रखें”

पूरा आर्टिकल एक सांस में पढ़ लिया – सुबह टहलने जाएं,
ज्यादा हरी सब्जियां खाएं,
क्रोध न करें,
खान पान का विशेष ध्यान रखें,
रेगुलर चेक अप करवाएं, वगैरह वगैरह…

बाद में फिर से हेडिंग ध्यान से पढ़ी, दिमाग ख़राब हो गया, लिखा था

“बीपी को कैसे नियंत्रित रखेँ”

अब आँखें चेक करवानी पड़ेगी…

Ek Chutki Sindoor – Pati Patni Joke

पत्नी अपने पति को
बार बार बोलती थी :

“एक चुटकी सिन्दूर की कीमत
तुम क्या जानो बाबू”

तो पति ने उसे अपने पास बिठाकर हिंदी में समझाया :

देख…
रसोई राशन Rs 13,000/-
बिजली बिल Rs. 2,500/-
पानी Rs. 1,000/-
बच्चों की स्कूल फीस Rs.12,000/
ट्युशन फीस Rs. 3,000/-
मकान EMI. Rs.17,500/-
मोबाइल खर्च Rs. 1,500/-
मेडिसन Rs. 1,500/-
पेट्रोल Rs. 2,000/-
अन्य खरचा Rs. 6,000/

और ये सब इसलिए कि तेरी मांग में
एक चुटकी सिन्दूर भरा है। वरना 10
हजार में मस्त जी रहा होता।

इसलिए सुन एक चुटकी सिन्दूर की
कीमत कम से कम 60,000/- रू महिना है ।

आज के बाद चुप रहियो ।।

Thand Ka Mausam – Funny Chutkula

कल शाम मे एक औरत को ठिठुरता देख
मैरे दोस्त ने अपना कम्बल उसके बदन पर दे दिया।

उसने कम्बल फ़ेकते हुए कहा
“गरीब नही हूँ शादी मे जा रही हूँ ।” 😀 😛

Baniye ki Shaadi – Funny Indian Joke

पेश है एक मजेदार किस्सा !

एक बार की बात है कि गुप्ताजी, एक
मारवाड़ी (बनिये) के यहां शादी में गए।

शादी का पंडाल बड़ा भव्य था और उसमें अंदर जाने के लिए 2 दरवाजे थे।

एक दरवाजे पर रिश्तेदार, दूसरे पर दोस्त लिखा था।
गुप्ताजी, बड़े फख्र से दोस्त वाले दरवाजे से अंदर गए।

आगे फिर 2 दरवाजे थे,
एक पर महिला, दूसरे पर पुरुष लिखा था।
गुप्ताजी पुरुष वाले दरवाजे से अंदर गए।

वहां भी 2 दरवाजे और थे,
एक पर गिफ्ट (gift) देने वाला,
दूसरे पर बिना गिफ्ट (without-gift) वाले लिखा था।

गुप्ताजी को हर बार अपनी
मर्जी के दरवाजे से अंदर जाने में बड़ा मजा आ रहा था|

उसने ऐसा इंतजाम पहली बार देखा था |
गुप्ताजी बिना-गिफ्ट वाले दरवाजे से अंदर चले गए।

जब अंदर जाकर देखा तो गुप्ताजी बाहर गली में खड़े थे।
और वहॉं लिखा था… शर्म तो आ नहीं रही होगी,
बनिये की शादी और मुफ्त में रोटी खायेगा???
जा-जा बाहर जा और हवा खा..!!