Funny Joke on Lord Ganesha Visarjan

एक आदमी नदी मे डूब रहा था। वो जोर जोर से चिल्लाया –
“गणेश जी बचाओ”
.
.
“गणेश जी बचाओ”
.
गणेश जी आए ओर नदी किनारे नाच ने लगे।
आदमी :”प्रभु आप नाच क्यों रहे हो? मुझे बचाओ…”
गणेश जी मुस्कुराते हुए बोले –
“तू भी तो मेरे विसर्जन मे बहुत नाच रहा था…!
〰〰अता माझी सटकली〰〰

Funny Patni aur Shaadi Jokes

भगवान जिसकी “मति” हर लेता है उसको

“श्रीमती” देता है

———

बीवी, बॉस और मोदी में क्या कॉमन है?

तीनों अपने मन की बात करते हैं, हमारे मन की नहीं सुनते।

———

आपने कभी सोचा है

शादी और सगाई बिच में थोडा
समय क्यों रखा जाता है ?

ताकी कोई यह न कह सके कि
मूझे दुर्घटना से बचने का मौका नही दिया 😀 😛

Funny Haryanvi Joke – Lugaayi angrezi sekkhegi

हरियाणे की लुगाइयों न अंग्रेज्जी सिखाण खात्तर टीचर आईं।
इब A फॉर एप्पल B फॉर बॉय तो समझाना आसान नहीं था इसलिए नया तरीका निकाला गया।

A फॉर अमर की बहू,
B फॉर बबलू की बहू,
C फॉर चंदर की बहू।

अच्छी तरै रटवाया, अर फेर टेस्ट लिया।

ताई कन्फ्यूज़ हो गयी।
W देख के कहणं लागी, दिक्खे तो यो मदन की बहू सै, पर टांगां न उप्पर क्यूँ करके पड़ी सै। 😀

Dada Aur Dadi ke jawani ke din

एक दादा और एक दादी ने अपनी जवानी के दिनों को ताज़ा और relive करने की सोची.

उन्होन्ने प्लान किया कि वो एक बार शादी से पहले के दिनों की तरह छुप कर नदी किनारे मिलेंगे.

.
.
.

दादा तैयार शैयार होकर, बांके स्टाइल वाला बाल संवार कर, लंबी टहनी वाला खूबसूरत लाल गुलाब हाथ में लेकर नदी किनारे की पुरानी जगह पहूंच गये. उनका उत्सुक इंतज़ार शुरू हो गया. ताज़ी ठंढी हवा बहुत रोमैंटिक लग रही थी.

.
.
.

.
.
एक घंटा गुजरा, दूसरा भी, यहां तक कि तीसरा भी . पर दादी दूर दूर तक नहीं दिखी.

दादा अपना सेलफोन भी नहीं ले गये थे क्यों कि उनके तब के वक्त में तो PCO भी नहीं होते थे. नदी किनारे तो नहीं ही.

.
.
.

दादा को फ़िक्र नहीं हुई, बहुत गुस्सा आया .

झल्लाते हुए घर पहुंचे …….
…….
…….
तो देखा

दादी
.कुर्सी पर बैठी मुस्करा रही थी.

.दादा, लाल पीले होते हुए

” तुम आयीं क्यों
नहीं ?”

दादी, शरमाते हुए.

.”मम्मी ने आने नहीं दिया.”

Funny Names Joke – Ajeeb Halaat

क्या हालात हो गए हैं…

बापू बोलो तो गांधीजी की जगह “आशाराम” दिखते हैं,

राधे कहो तो “राधे माँ” दिखती है,

किसी को “आप” कहकर संबोधित करो तो “केजरीवाल पार्टी” आ जाती है,

नमो नमः का ध्यान करो तो “मोदी जी” ध्यान में बोलते हुए नजर आते हैं,

किसी बच्चे को पप्पू कहो तो खुद को राहुल गॉंधी समझने लगता है

और तो और

किसी को शुभकामना देने से पहले हार्दिक बोलने में भी डर लगता है,
हार्दिक पटेल नजर आने लगते हैं