WhatsApp Messages ki Variety

ईस व्हाट्सएप्प के चक्कर में
दिमाग के नट बोल्ट ढीले हो
गये हैं..

एक सेकंड में मिजाज़ शायराना
हो जाता है और अगले ही सेकंड
में देश भक्ति जाग ऊठती हैं. ✊

ऊसके फौरन बाद सनी लिओनी
आती है. ☺

तभी अचानक कोई ग्यानी भगवान
बुद्ध और विवेकानन्द की चार
लाईने भेजता है.✋

ऊसके बाद कोई दुखी आत्मा
बिवीयों पर जोक भेजकर अपनी
मर्दानगी साबित करने की कोशिश
करता है।

और जब थोड़ा सकुन मिलने का
समय आने ही वाला होता है,
तब एक डरावना फारवर्ड
साई के नामसे आता है कि
ईसे दस लोगों को भेजो तो लाटरी
लगेगी वर्ना सत्यानाश होगा।

इसके बाद दिमाग का दहीबड़ा
तब होता है जब कोई
क्विज ले के आता है।

मनुष्य का इतने तेजी से ह्रदय
परिवर्तन तो सिर्फ व्हाट्सअँप पर
ही हो सकता है।

जब भी whatsapp खोलो,
लगता है whatsapp नही
हरिद्वार आ गए है…
इतना अथाह ज्ञान बरसता है
कि मन एकदम शुद्ध हो जाता है…
सभी whatsapp संतो को कोटि-कोटि नमन..

Rakhi par har saal aane wala yeh joke padho

अगर कोई अनजान लड़की

आपको कोई “गिफ्ट” दे
तो कृपया उसे न ले

क्योकि उसमे
“राखी”
हो सकती है

आपकी ज़रा सी लापरवाही आपको
“भाई”
बना सकती है.

रक्षा बंधन के अवसर पर जनहित में जारी….!

Jokes on WhatsApp Admin

Admin जलेबी बेच रहा था..
लेकिन बोल रहा था ‘आलू ले लो आलू….!’

संता: पर यह तो जलेबी है.

Admin: चुप हो जा, वर्ना मक्खियां आ जाएंगी.

Very intelligent u know..

————————–

admin ke liye jackpot..

एडमिन टॉयलेट में बैठा था,
सामने लिखा था। ‘कृपया पानी का ज्यादा से ज्यादा इस्तमाल करे’

एडमिन बैठे बैठे चार डब्बे पानी पी गया

————————–

आज हमारे एडमिन ने फिर कमाल कर दिखाया ।

वह बैंक में जा कर सो गये,
क्योंकि वहाँ लिखा था कि..

यहाँ सोने पर लोन दिया जाता है ।

हंस क्या रहे हो।
दुसरे एडमिन को सेंड कर, उसका भी मन हो रहा होगा मजा लेने को।।

sorry admin 😛

Biwi naam ka ajeeb prani

दोस्तों आज हम एक अजीब प्राणी
के बारे में पढेंगे – इस जीव का नाम हे.

“बीवी”

यह अक्सर रसोई और टीवी क सामने पाई जाती है.

इनका पौष्टिक आहार हे पति का भेजा.

ये पानी कम खून ज्यादा पीती है …

इन्हें अक्सर नाराज़ होने का नाटक करते हुए देखा जाता है.

इस प्राणी का सबसे खतरनाक हथियार हे रोना और इमोशनली ब्लैकमेल करना.

उसके संपर्क में रहने से टेंशन नाम की बीमारी हो सकती हे,
जिसका कोई इलाज़ नहीं.

.

बस इनसे सावधान रहना
“भारत सरकार द्वारा जनहित में जारी”