Tarak Mehta ke Jethalal aur Babita Special Funny Shayari

जेठालाल स्पेशियल :

अहमदाबाद की धुप से स्किन मेरी जली ..
वाह वाह ….
अहमदाबाद की धुप से स्किन मेरी जली ..
जेठालाल बोले , “मेहता साहेब ..”
चुरा के दिल मेरा, बबिता चली ..

———————————-

Jethalal Hindi Jokes

जेठालाल –
अगर मेरी शादी मेरी मर्जी से होती ..
वाह वाह ….
अगर मेरी शादी मेरी मर्जी से होती ..
तो टपुडा ,
तेरी मम्मी दया नहीं .. बबिता होती ..

———————————-

हर शाम सुहानी नहीं होती ..
हर चाहत के पीछे कहानी नहीं होती ..
कुछ तो असर ज़रूर होगा महोब्बत में ..
वरना गोरी बबिता काले अय्यर..
की दीवानी नहीं होती

———————————-

एग्जाम के टाइम पे नींद अच्छी आती हैं ..
वाह वाह ….
एग्जाम के टाइम पे नींद अच्छी आती हैं ..

जेठालाल के दुकान जाने के टाइम पर ही ..
बबिता निचे क्यों आती हैं ?

9 thoughts on “Tarak Mehta ke Jethalal aur Babita Special Funny Shayari”

  1. last wala to sach me sochane pe majbur kar deta. ya ! that’s right. aakhir katappa ne bahubali ko kue mara usase bhi intersting que. to ab ye ban gaya hai ki, aakhir Babita jethalal ke dukan jane ke time pe hi ni che kue aati hai.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.