Logo ki Kadwi Sachchai

कङवी सच्चाईँ…
.
नदी तालाब मेँ नहाने मेँ शर्म आती है, और
स्विमिँग पूल मेँ तैरने को फैशन कहते हो….
.
गरीब को एक रुपया दान नहीँ कर सकते, और
वेटर को टीप देने मेँ गर्व महसूस करते हो..
.
माँ बाप को एक गिलास पानी भी नहीँ दे सकते, और
नेताओँ को देखते ही वेटर बन जाते हो….
.
बड़ोँ के आगे सिर ढकने मेँ प्रॉबलम है, लेकिन
धूल से बचने के लिए ‘ममी’ बनने को भी तैयार हो..
.
पंगत मेँ बैठकर खाना दकियानूसी लगता और
पार्टियोँ मेँ खाने के लिए लाइन लगाना अच्छा लगता है…
.
बहन कुछ माँगे तो फिजूल खर्च लगता है, और
गर्लफ्रेँड की डिमांड को अपना सौभाग्य समझते हो..
.
गरीब की सब्जियाँ खरीदने मेँ इंसल्ट होती है, और
शॉपिँग मॉल मेँ अपनी जेब कटवाना गर्व की बात है…
.
बाप के मरने पर सिर मुंडवाने मेँ हिचकते हो, और
‘गजनी’ लुक के लिए हर महीने गंजे हो सकते हो….
.
कोई पंडित अगर चोटी रखे तो उसे एंटीना कहते हो, और
शाहरुख के ‘डॉन’ लुक के दीवाने बने फिरते हो….
.
किसानोँ के द्वारा उगाया अनाज खाने लायक नहीँ लगता, और
उसी अनाज को पॉलिश कर के कंपनियाँ बेचेँ तो क्वालिटी नजर आने लगती है..
.
अगर सहमत हो तो ठोको आगे…

Kudrat ka sabse bada sach

–:: कुदरत का सबसे बडा सच ::–

यदि आप फूलों पर सो रहे हैं
तो ये आपकी पहली रात है l

और यदि फूल आप पर सो रहे
है तो ये आपकी आखिरी रात है l

(अजब तेरी दुनिया गज़ब तेरा खेल)

——————————

मोमबत्ती जलाकर मुर्दों को याद
किया जाता है l

और मोमबत्ती बुझाकर जन्म
दिन मनाया जाता है l

(कैसी विडम्बना है हमारे देश की)

——————————

फूलन देवी डाकू होकर भी
चुनाव जीत गई थी l

और किरन बेदी पुलिस वाली
होकर भी हार गई l

(किस्मत के खेल निराले मेरे भैया)